• shobharani 22w

    आखिर तुम हो क्या ?????
    लबों की मुस्कान
    या मीठे दर्द की पहचान,
    बन्धनों से आजादी
    या प्रेम का बन्धन,
    दिल की किताब में
    रखा इक गुलाब,
    मेरी सूनी रातों का
    खूबसूरत हसीन ख्वाब,....
    मेरी आँखों की नींद
    या मेरी मुस्कान
    ............
    मेरा प्यार या....
    ..................
    तपती दोपहर में
    पेड़ की छाया
    या दिल के किसी कोने में
    जलती उम्मीद का एक दिया
    आखिर तुम हो क्या??????
    ©shobharani