• abdulramiz 4w

    अपने माजी के तसव्वुर से हरासां हूं मैं
    अपने गुजरे हुए अय्याम से नफ़रत है मुझे,

    अपनी बेकार तमन्नाओं पे शर्मिंदा हूं मैं
    अपनी बेसूद उम्मीदों पे निदामत है मुझे