• canetaic 24w

    दिल मिलते हैं
    लोग साथ चलते हैं...
    गुफ्तगू थोड़ी
    फिर मुलाकातें होती है...

    मुलाकातों में फिर दिल उतर आते है,
    कभी मुस्कुराहट होठों पर
    तो कभी आंखों में आसूं भर जाते हैं...

    फिर बढ़ते बढ़ते जज्बात घुल जाते हैं,
    जज्बात संग फिर हज़ार वादे होते हैं...
    राही हमसफ़र बन जाते हैं,
    फिर साथ साथ चलते हैं...

    जिंदगीभर साथ का वादा भी होता है...
    फिर एक एक राज उजागर किया जाता है...
    पर क्यों खुलते खुलते एक एक राज,
    लोगोंको हमसे दिल भर जाता है...

    ©limitloss