• gauravskaintura_ 22w

    This is a small piece of love poetry (Hindi bhajan), I had written a year ago for my Lord. In this bhajan, Radha - if you know she is a girl from Gokul who is complaining to her mother about Krishna.
    So rest of the lines are as follows:

    ❣️❣️

    माँ मैं तो नीर भरन को जाऊ
    राह में मिले मोहे श्याम-कन्हाई
    पकडे मोरी कलाई
    बता मैं कैसे छुड़ाऊं...

    रंग दे चुनरिया
    श्याम सांवरिया
    कंकर मारे
    फोड़े है गगरिया
    बता मैं कहाँ कित जाऊ...

    मटकी फोड़े
    माखन चोरे
    जियरा आन बसा
    है मोरे
    बता क्यों न मैं सरमाउं...

    मारे गिरधारी
    मोरे पिचकारी
    सखी संग भागूं
    मैं तो कुँवारी
    बता मैं कैसे समझाऊं...

    माँ मैं तो नीर भरन को जाऊ

    ❣️❣️

    Written By -
    Gaurav S Kaintura

    Read More

    माँ मैं तो नीर भरन को जाऊ
    राह में मिले मोहे श्याम-कन्हाई
    पकडे मोरी कलाई
    बता मैं कैसे छुड़ाऊं

    Gaurav S Kaintura