• jagriti_singh_rajput_ 23w

    गलतफमियां

    वो तो छुट्टियों में दिल बहला रहे थे ,
    और हम इश्क़ का आगाज़ समझ बैठे ,
    उन मीठे अल्फाज़ो को उनके दिल की मीठास समझ बैठे ,
    दुआ में उनके सारे दर्द मांगते थे पर वो खुद हमारे लिए दर्द बन बैठे ,
    गलतफमियां हमारी और हम उन्हें कसूरवार बना बैठे |
    ©jagriti_singh_rajput_