• kannagi 11w

    बचपन

    बचपन मेरा आज भी मेरे अंदर ही कहीं रहता है
    उदास होने पर वो आकर मुझे हँसा दिया करता है ।

    कन्नगी भूषण