• rishipoet 23w

    तन्हाई

    जो तन्हाई समझे वो यार कहाँ
    इतने हैं शोर मगर वो प्यार की पुकार कहाँ
    ©rishipoet