• explorer_shashank 23w

    चढ़ गयो ग्वालो प्रेम रस
    व्याकुलता छलकत जाये।
    नैन-नैन किन्ही ये बातें
    सुबह से शाम बिताये।।
    ©explorer_shashank