• anshlove 5w

    Inspiration....

    सुन पथिक ज़रा तू धैर्य को रख ले,
    ये राह ज़रा सी कठिन हुई है।
    अब तू अपनी कमर को कस ले,
    इम्तहान की घड़ी शुरू हुई है।
    आंसुओं को अपने बहने न दे,
    इनकी जरूरत अब यहां नहीं है।
    तू हौसले को अपने गिरने से रोक,
    हार मानना तेरी फितरत नहीं है।
    अकेले चलना तू शुरू तो कर,
    बेशक ये सफर कठिन लगेगा।
    तुझमें अभी जो बाकी है जज्बा,
    वो ही मंजिल के तूझे पार करेगा।

    ©anshlove