• kajalbajpai 9w

    "तुमको ही तो सोचते है , पूरे दिन ...,
    कहते हो ख्याल किसका है ...!
    गुनगुनाते रहते है , हर पल तुम को ....,
    कहते हो लबों पर नाम किसका है .....!"
    "इश्क करती नहीं , कहीं दीवारों पर नाम ना हो ...,
    एक मेरे लिए , तू बदनाम ना हो ....!"
    "गर है तुझको मुझसे शिकायत.....'
    जा भुला दे मुझको , पर यू परेशान ना हो ____..."
    " रूठ ही तो गई है मेरी तन्हा किस्मत ,
    किसी से फरेब करना नहीं है मेरी किस्मत ..."
    हाथों में सुरे के जाम भी होंगे ...."
    अमीरों की फेहरिस्त में हमारे नाम भी होंगे ____"!
    "" बस ये तो आगाज है अंजाम कया होगा !
    """बेमुरियाद तो अभी से डरने लगे """
    जरा सोचो ___ हाल ऐ इंतकाम कया होगा !"
    _______________________________

    Read More

    ""Sirf Tum"""

    ©kajalbajpai