• shayartera 49w

    एहसास...५५

    〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰

    " तू उदासी बन , हर शाम आ जाता है ,
    मैं , हर शाम अंधेरे में तुझे छिपा लेती हूं ।

    〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰
    ©shayartera