• babakenazm 23w

    आजकल रातें भी अपने ऊपर
    अक्सर ही रोया करती हैं,
    उसी के आंचल को ओढकर
    लोग उसे शर्मिंदा कर जाते हैं।

    ©babakenazm