• rtk007 6w

    चिराग़

    माना कुछ नहीं किया हम ने
    तेरी ख़ातिर......
    कम से कम कहने से पहले
    ये तो सोचा होता.....
    ज़िंदगी के नय चिराग़ हम ने
    ही जलाये थे.......

    ©Rahul_singh