• kamal_komey 22w

    ये मीठी शरबत सी बातें न करो
    जरूरत पे खारें आंसू ही साथ देते है

    चाशनी में डूबे वो लफ्ज़ याद है
    दर्द मे न वो मरहम देते है

    मोहब्बत भी तेरी मीठा ज़हर हुई
    क़त्ल तो न किया ताउम्र डाइबिटीज़ सी दे गई
    ©joshi_02