• gaurav03 6w

    किस गुनाह की सजा दे रहा है, ए खुदा मुझको।।

    क्या मै इंसान नहीं।।। मुझे दर्द नहीं होता क्या।।।

    तेरे ही दर थे।।। जहा हाथ जोड़कर दिल से उसकी खुशियां मांगी थी।।।।

    क्या गलती की है मैंने क्यूं मुझे इस तरह तड़पा रहा है,।।।

    तू नहीं समझेगा, इस दर्द को, शायद तूने कभी अपनी मोहब्बत नहीं खोई।।।।
    ©gaurav03