• piyush_bawa 31w

    शिकारी खुद का खुद ही बन रहे हैं,
    रात को बदनाम और दिन को गुमनाम कर रहे हैं,


    कैसे समझाऊँ हाल मेरा तुझे,
    मेरे जज्बात मुझे ही इजहार करने से डर रहे हैं ...


    - Piyush Rathore