• jyotimistri 23w

    काली रात के "सन्नाटे" से,
    कड़ी "धूप" बेहतर लगती है अब….....
    हां "तपिश" है बहुत पर,
    रास्ते "रोशन" इसी से हैं........


    ©jyotimistri