• hemu_hemu 46w

    यार भी यार होता है,
    मुक़दस दिल की परतों,
    में कहीं गहरा,
    पनडुब्बी के जैसे,
    दिखाई कुछ नहीं देता,
    बस सुनाई देता है।।

    समर्पित -आर्यन