• maktuub_07 6w

    By unknown writer

    Read More

    मक़तूब

    मेरे बिगडे हालातो को देखकर वो हसने लगा ,
    दिल ने कहा ये वो नहीं जिससे तु प्यार करता था ,

    मक़तूब