• brokenshayari 31w

    मिलो कभी चाय पर फिर क़िस्से बुनेंगे..

    तुम ख़ामोशी से कहना हम चुपके से सुनेंगे.