• goldenwrites_jakir 10w

    सफर जिंदगी ✍️

    सफर जिंदगी खुदा ने खूबसूरत है लिखा
    इक हम चंद खुशियों के लिए अनमोल रिश्तो से खुदको अलग करके जी रहे
    होकर दूर अपनों से हम तन्हा ही जी रहे
    सफर जिंदगी में मुकाम तो हजार मिले खुशियों के
    पर दिल को इक ही तस्वीर इक ही चाहत पर आकर जिंदगी थमसी गई
    मोहब्बत कहते किसे उस रास्ते पर आकर जिंदगी रुक सी गई
    मिली वफ़ा बेसुमार उनके पहलु में
    वो दरिया इश्क़ का अब आँखों से बहता है
    लिखूं जो भी कोरे कागज़ पर वो एहसास उनका रहता है
    होकर दूर अब में उनकी जिंदगी से फिर भी पास हरदम में उनके रहता हूँ वो कलम मेरी में कागज़ हूँ
    उनके बिना में अधूरा हूँ सफर जिंदगी का अधूरा है


    ©goldenwrites_jakir