• mrpoet14 5w

    कुछ ऐसे मुस्कुराती हूँ कि अपने आसुंओं को
    आँखों में छुपा लेती हूँ।
    लोग पूछते हैं वजह मेरी मुस्कुराहट की,
    मैं तेरा नाम सोच, फिर मुस्कुरा देती हूँ।
    :निकिता 'तमन्ना’