• rajsaumye 5w

    "दुकान लगाई थी कमाने को, उधारी पर मांग लिए उन्होंने मेरे जज़्बात।
    वक़्त चार पैसे कमाने के थे, समझदारी दिखाने की थी, कम्बखत साझेदारी कर बैठे।"

    राज सौम्य