• yuvikag 6w

    कृष्ण की राधा तू....

    प्रेम की देवी तू।
    कृष्ण की राधा तू।
    बन जा मेरी परछाई तू।
    मै तुझमे, तू मुझमे समाई तू।
    जहाँ मे सच्चा है साथ तू।
    मेरे जीवन की है आश तू।
    मेरी धरती नदियाँ अमवार तू।
    मेरे जीवन का कण कण तू।
    मेरे जीवन का आधार भी तू।
    मेरा है सारा संसार भी तू।
    गोपाल की गोपी तू।
    किशोर की किशोरी तू।
    बन जा मेरी परछाई तू।
    मै तुझमे,तू मुझमे समाई तू।
    प्रेम की देवी तू।
    कृष्ण की राधा तू।
    Neetu@....