• kriple_shah 5w

    Izhar

    पन्नों पे लिखी कहानी को तुम
    कुछ-कुछ अधूरी सी छोड़ना..

    जो मज़ा इंतज़ार में है
    वो मज़ा इज़हार में कहाँ..!!