• mummas_boy_writes_for_her 23w

    तन्हा तन्हा रहता है मेरा दिल आजकल
    बिन देखे तेरी वो प्यारी सी शक्ल

    सारी यादें समेटकर वो चला था किसी और गली
    ये सोचकर कि तू फिर कभी ना मिली

    पर ये दिल तो बड़ा मासूम ठेहरा
    तेरे ना होते हुए भी दे रहा है पेहरा

    ये सोचकर कि तू कभी तो वापस आयेगी
    पर इसे क्या पता तू ना आकर बहुत दर्द दे जाएगी

    इसलिए संभाले हुए हूँ इस दिल को बहुत
    ताकि ना पहुँच सके इस तक तेरी कोई याद ना तेरा कोई खत
    ©mummas_boy_writes_for_her