• dsrdiary 11w

    वहम

    वो...दस्तक हुई है
    दरवाज़े पे मेरे,
    तुम हो क्या?
    हिचकियाँ सी आती हैं,
    ख़यालों में मेरे
    गुम हो क्या?

    ©Ronit