• gwalior_poetry 9w

    तुज को बाहों में लेकर धीरे-से तेरे कानों मे इज़हार करना चाहता हुँ तुम्हे हर पल मेरी कमी मेहसूस हो इतना तुम्हे प्यार करना चाहता हुँ,मे बस एक बार तेरी सुनी कलाई मे कंगन पहना चाहता हुँ तुजे बाहों मे लेकर इज़हार करना चाहता हुँ
    मे बस तुज से प्यार करना चाहता हुँ,
    ©gwalior_poetry