• kumargourav99 5w

    तुम अाई!!

    जो पराए हो गए, ऐसे अपने थे बहुत,
    तुम अाई और मुझे अपना बना लिया।

    मुझे गिले - शिकवे थे सभी से बहुत,
    तुम अाई और मुझे सीने से लगा लिया।।

    भटक रहा था मैं, एक दिल की तलाश में,
    तुम अाई और मुझे दिल में छुपा लिया।

    ये निगाहें ज़रूर थी, किसी और की आस में,
    तुम अाई और मुझे निगाहों में बसा लिया।।

    ©kumargourav99