• divreet 10w

    .

    पहुँच ना पाया कोई मेरे अंदर की उदासी तक
    मेरे चहरे की मुस्कुराहट ने अदाकारी ही इतनी बढिया की
    ©kiran purba