• madhuriii 22w

    कल मंज़िल पे चलते चलते सपने बिखर गए.

    आज उन बिखरे हुए टुकड़ों में आशियाना बना लिया .


    ©madhuriii