• raahi_roshan 31w

    कर दो अब इजहार ,
    की अब इन्तजार मुश्किल है
    चाहे जो हो यार
    अब रहना इस पार मुश्किल है
    इतनी देर से दूर रहे ,अब
    दूरी ये मंजूर नहीं
    तुमसे मैं ना मिल पाऊं
    इतना भी मजबूर नहीं
    कर दो चौखट पार
    की अब ये इंतज़ार मुश्किल है
    चाहे जो हो यार
    अब रहना इस पार मुश्किल है
    जो तुमने इनकार किया तो
    सांस मेरी ये छीन जाये
    तेरे आँखों के मद से बढ़कर
    कोई नशा ना मन को भाये
    तुमसे हुआ है प्यार
    की अब ये इंतज़ार मुश्किल है
    चाहे जो हो यार
    अब रहना इस पार मुश्किल है

    ©raahi_roshan