• swarnimasinghdeo 23w

    चीजों की हसरतें तो निम्न सी थी मेरी ,
    बस तेरी मोहब्बत की चाह बेहिसाब थी ,
    ख़ुदा की मर्ज़ी भी क्या खूब चली ,
    चीजें तो बेहिसाब मिली ,
    बस तेरी मोहब्बत में कुछ ख़ासा कमाल नहीं ।

    ©the_swarnima_