• nilujaw 4w

    Khamoshi

    कभी कभी दिल की बात कहने के जुबां साथ नहीं देती तब ख़ामोशी ही साथ देती हैं, और एक यही ख़ामोशी हैं जिसमे कई राज़ छुपे होते हैं. ख़ामोशी में नाराजगी भी होती हैं और अपनापन भी होता हैं, प्यार का इज़हार भी होता हैं और किसी का तन्हाई में इंतज़ार भी होता हैं.