• nikkisingh 5w

    कभी जान थे, अब बेकाम हो गए
    सब कुछ तुमको ही तो दे दिया
    अौर तुम ही कहते हो की
    रद्दी सामान हो गए
    Nsr