• perceptive_writer 23w

    सोचती हू लिख दू कुछ गहरा सा
    पढ पाये जिसे सब समझ बस वो सके
    खूबसूरत सबको लगे पर दिल तक उन्ही के पहुंचे
    लिखा यूँ तो कई बार बहुत कुछ है ऐसा
    कुछ ऐसा लिखू जो कागज़ को ही नही आँखों को भी नम कर जाए
    शब्द मेरे हो एहसास उन्हें कराए