• loveneetm 6w

    चाय

    चाय पर रिश्ते और राजनीति,
    बनते बिगडते देखा है,
    इंतजार के पल और,
    मुलाकातों का सब्र देखा है,
    चाय की चुस्कियों ने,
    सुलझाएँ है कई सवालों को,
    चाय पर सरहदों की सीमा,
    बनते देखा है।
    @लवनीत