• _sunny 31w

    गिरफ़्त में आऊ तेरे हुस्न के
    कुछ इस क़दर ज़ालिम
    तुझकों तक टटोलना पड़ जाए
    अपने रूह में झांक कर
    ..
    अपने रूह में झांक कर
    अपना वजूद जान लेना
    मैं कहीं तुझे मिल जाउ
    तो आईना मान लेना..
    ..
    कि आईना मान लेना तो इकरार हो जाएगा
    हां तुम को भी
    तुम को भी प्यार हो जाएगा
    ..
    चूम लेना अपनी परछाई को
    अपने दिल में उतार कर
    मैं दिल के मन्दिर में
    तेरा घर बना लूंगा..
    ..
    तुझकों तक टटोलना पड़ जाए
    अपने रूह में झांक कर

    तो आईना मान लेना
    अपना वजूद जान लेना