• harshitwriter 9w

    वो हमसफ़र तो थी

    वो हमसफ़र तो थी
    पर अधूरे ही सफर में छोड़ गई
    कमी आज भी उसकी पूरी नही हुई
    जाते जाते ये समझा गयी उम्मीद किसी
    से मत करो, हो सके तो खुद पर विश्वास करो।
    ©harshitwriter