• rishabh_ydv 36w

    "माँ"

    अक्षर दर अक्षर,शब्द दर शब्द,
    तेरी अहमियत को बयान करना सरल तो नही है।
    मेरी रोटी के बाद तेरा निवाला निगलना,
    ये वजह है जो मुझे घर वक़्त पर पहुँचा देती है।

    ©ऋषभ यादव