• mfdart 31w

    मैं कोई शायर नही

    मैं अपना दर्द बयां नहीं कर सकता,
    इसलिये लिखता हूँ
    मैं अपनी बैचेनी दिखा नही सकता,
    इसलिये लिखता हूँ
    मैं तुझे कितना चाहता हूँ,
    दिखा नही सकता,
    इसलिये लिखता हूं
    मैं तन्हाई में पल पल मरता हूँ,
    तुझे समझा नही सकता,
    इसलिये लिखता हूँ
    ©mfdart