• the_inspiration_writer2050 5w

    सही और गलत का फैसला आखिर कौन करता है
    मेरे कपड़े का रंग किसी के लिए सही होगा
    तो मेरा पहनावा किसी के लिए गलत
    किसी के लिए मेरी चमड़ी सावली होगी
    तो किसी के लिए मेरा मुँह काला

    अगर चोरी करने की सजा मिलती है
    तो दिल दुखाने की सजा भी मिलनी चाहिए
    अदालत में घर तोड़ने की सजा मिलती है
    तो घर बर्बाद करने की सजा भी मिलनी चिये

    धर्म के नाम पर बटवारा सही है
    तो आजादी की नाम पर नारे लगाना गलत क्यों
    अगर इश्क़ इबादत है तो धर्म के नाम पर बटता क्यों है
    में गलत हु और में ही गलत हु इसका फ़ैसला आखिर कौन कर सकता है