• sunilkashdhone941 23w

    Jay Hind...

    जब हम तुम अपने महबूब की आँखों में खोये थे,
    जब हम तुम खोयी मोहब्बत के किस्सों में खोये थे,
    सरहद पर कोई अपना वादा निभा रहा था,
    वो माँ की मोहब्बत का कर्ज चुका रहा था.

    ©sunil kashdhone