• mushaaiir 34w

    जीवन होता कलंकित,
    मरी हूँ पाक होकर।
    - भ्रूण

    जियेगी अगर तो ज़िंदालाश,
    कमसे कम वहाँ हिफाज़त से रहेगी।
    - बलात्कार पीड़िता

    Read More

    ☺☺

    शुक्रिया पापा,
    में यहाँ सुकून से और हिफाज़त से जी रही हूँ,
    मुजे रक्षण देने के लिए और
    मेरी इज़्ज़त बचाने के लिए बहोत शुक्रिया।

    - स्वर्ग से आपकी प्यारी गुड़िया ( भ्रूण )