• rohitdubeyrd 5w

    वो शाम कितनी हसीं होती,
    काश कि वो चाय तुमने पिलायी होती।
    तेरे संग जीने का मज़ा ही कुछ और है।


    ©rohitdubeyrd