• vardhantesoro 10w

    वक़्त हो तो पढ़े,वरना रहने दे #irrfan

    Read More

    उसे दिखावा पसंद नहीं था इसलिए ज़माने में उसके लिए दिखावा किसीं ने किया हीं नहीं।।वो अलग था ..
    पर दुनिया मतलबी हैं ,किसी के मरने का भी फ़ायदा देखती हैं
    कल irrfan के जाने का ग़म था पर आज जो ऋषि जीं के जाने पर लोगों का हुजुम देखा तब ग़म और बढ़ गया..
    इन दोनो मे फ़र्क़ कर दिया लोगों ने!!!
    फ़र्क़ करने वाले ये वहीं हैं जो fancy दुनिया और चकाचौंध में जितें हैं ,सच तो ये भी जानते है पर इन्हें क्या पता कीं ग़म में फ़र्क़ नहीं करते..
    Irrfan अभिनेता ख़ुद बने , पीढ़िया कोई कलाकार नहीं थीं,ज़मीन से जुड़े थे fancy जीवन नही था,तभी इस bollywood में जिगरी यार उनके कम थे..आज यह "फ़र्क़" ने सच दिखा हीं दिया...
    ईश्वर!! निर्दयी लोगों का दिल कैसे मान जाता हैं ऐसा फ़र्क़ करके।।
    मैं irrfan से दिल्लगी करता था ,जब उनकी माँ का इंतेकाल का सुना और यह भी सुना कीं उन्होंने video call के ज़रिए अपनी माँ को अंतिम विदाई दी तब दिल दुखा पर महसूस उतना नही कर पाया, 4 दिन बाद जब irrfan का इंतेकाल सुना तो अब सहने को ग़म बचा नहीं था... उसे पर्दे पर माँ के ग़म में टूटते देखा हैं मैंने ,वो अभिनय मानो सच करता था,,मैं तब खो जाता था उसकी बड़ी सीं नम आँखों में जिसकी लालिमा ,दर्द को दिल तक महसूस करवाती थीं तब मैं रो देता था...आज वो टूट गया अभिनय करते करते,उसने यूँ तनहा ख़ुद को पाया ना था,बिन माँ के सोच नहीं पाया ख़ुद को,,इबादतें करता रहा खुदा से कीं खुदा!! माँ को जन्नत नसीब हो,उनका ध्यान रखना खुदा,एकाएक उसे ये याद आया कीं मिन्नते करलू खुदा से कीं मुझे वो माँ से मिलवादे,, वो तब रोया,बिलखा तड़पा और दरखवास्त कीं खुदा से कीं "मुझे माँ को छूना हैं उनसे मिलना हैं"
    और मैं तो आपको पहले हीं बतला चुँका हूँ कि मैं उसका अभिनय जानता हुँ वो बड़ा सच दिखता था ,लेकिन आज अभिनय नही ये तो सच भी था और खुदा क़सम ये पल अगर camera irrfan को फ़िल्मा लेता तो उसके खुद्के lens चौंधिया जातें..पर आज खुदा ने उसे देखा,उसकी इबादत को देखा और बस खुदा देखता ही रह गया..
    खुदा ये ख्वाइश टाल ना सका,वो irrfan की इबादत देख इतना खो गये की ये भी नहीं सोच पाये कि इसकी दुआ क़बूल करने के लिए इसकी जान भी तो लेनी पड़ेगी..
    पर irrfan सच्चा था उसे इबादत प्यारी थी और बाक़ीसब गौण था उसके आगे,,तो ये पाक,बेबाक़ दुआ क़बूल हो गयीं,irrfan मिल लिए अपनी माँ से...
    तो मेरे मन बता!! तुझे अब दर्द कैसा????
    देख तो सही उसकी वो मदहोश आँखे और हँसते हुवे लफ़्ज़ बता रहे हैं
    कि वो कितना ख़ुश हैं "अम्मी" से मिलकर..❤️❤️❤️❤️
    @vardhantesoro