• gautami_basuthkar_ 5w

    ख्वाब ऐसे बुन्न गया वोह, की जैसे
    कायनात मै सिर्फ़ मोहब्बत हो,
    दुनिया भी ऐसी ज़ालिम निकली
    की दर्द का सिक्का भी वोह ही हमें दे गए।


    ©gautami_basuthkar_