• devendradattyadav 35w

    #मैं और मेरे एहसास #lover's poem #writers unite

    Read More

    @loveshayer #lovers site

    आज कल कुछ रुठे से हो,
    शायद गहराई तक टूटे भी हो।
    दिल के टुकडो़ कि आवाज से रुबरु है हम,
    लगता है किसी अपनो के हाथों तोडे़ गए हो।
    आँखों कि हर बूँदे बयाँ कर रही है,
    अपनी ही जिंदगी से लूटे गए हो।
    अब भी तुम अपना गम छूपा रहे हो दुनिया से,
    मेरी तरह तुम भी झूठे लग रहे हो।
    आओ एक राज कि बात बताएँ तुम्हे,
    तुम अपनी किस्मत से ही फूटे लग रहे हो।


    ©devendradattyadav