• abdulramiz 10w

    यूं भी करता है कोई चाहने वाले पे सितम

    न इशारा न किनारा, न इनायत न सलाम