• serene_nib 23w

    When you ponder true meaning of your life..

    #DedicatedToFamily #Mom
    #MumbaiDiary

    #Serene_Nib

    Read More

    सांस

    बहुत खींच लिया इस जिंदगी को एक आस क सहारे 
    अब बिना डरे  सांस लेने को जी चाहता है । 
    जी चाहता है की जिंदगी क हर पहलू को फिर से जियु 
    उन् मिटि  के खिलोने को अब हकीकत में तब्दील करु 
    बहुत जी लिया ख्वाबों में,
    अब हकीकत का सामना करने को जी चाहता  है । 

    बहुत खींच लिया इस जिंदगी को एक आस क सहारे 
    अब बिना डरे  सांस लेने को जी चाहता है । 

    बहुत जाग लिया रातों में कुछ सिक्के कमाने के पीछे ,
    अब माँ तेरी गोद में सर रख क सोने को जी चाहता है । 
    जी चाहता है की तेरे हाथो से फिर निवाला खऊ ,
    फिर से ठिठोली कर के तुजे  सताउ 
    बहुत दौड़ लिया इस शहर के भीड़ में ,
    अब  खदीर् की तरह खेलने को जी चाहता है । 

    बहुत खींच लिया इस जिंदगी को एक आस क सहारे 
    अब बिना डरे  सांस लेने को जी चाहता है । 

    बहुत बाँट  दिया है प्यार कुछ जाने पहचाने चेहरों के पीछे । 
    अब कुछ गैरों  को अपना बनाने को जी चाहता है। 
    जी चाहता है  कुछ अधूरे सपने फिर पूरे करू 
    उसकी मासूम आँखों में अपना बचपन फिर  देख लु । 
    बहुत साँस ले लिया अपने लिए 
    अब किसी और के लिए जीने को जी चाहता है। 

    बहुत खींच लिया इस जिंदगी को एक आस क सहारे 
    अब बिना डरे  सांस लेने को जी चाहता है । 
    ©rudra01